Breaking News

Storm lightning on Jupiter in the solar system। सौर मंडल में इस ग्रह पर गिर रही है ताबड़तोड़ बिजली, देखिए हैरान कर देने वाली तस्वीरें

नई दिल्ली:तूफान सिर्फ धरती पर ही नहीं आते हैं बल्कि सौर मंडल (Solar System) में मौजूद कई अन्य ग्रह भी तूफान की चपेट में आते हैं. हमारे ग्रह की ही तरह अन्य ग्रहों पर भी बादल फटते हैं और बिजलियां गिरती हैं. हमारे सौर मंडल के सबसे बड़े ग्रह बृहस्पति (Jupiter) पर इस समय भयानक तूफान आया हुआ है और ताबड़तोड़ बिजली गिर रही है. वहां बादलों के चक्रवात बन रहे हैं. इसकी हैरान कर देने वाली तस्वीर भी सामने आई है.  

बृहस्पति ग्रह पर आया भयानक तूफान
अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) के जूनो स्पेसक्राफ्ट (Juno Spacecraft) ने इन तूफानों, कड़कती हुई बिजली और उमड़ते हुए बादलों की तस्वीरें ली हैं. तस्वीरें सामान्य कैमरे के अलावा इंफ्रारेड और अल्ट्रावॉयलेट कैमरे से भी ली गई हैं. जूनो से प्राप्त तस्वीरों का अध्ययन करने पर पता चला कि यहां पर दो तरह की बिजली कड़क रही है.

यह भी पढ़ें- धरती की तरफ तेजी से बढ़ रहा ‘काल’, टक्कर होने पर हर तरफ मचेगी तबाही

नासा के वैज्ञानिकों ने एक का नाम स्प्राइट (Sprite) और दूसरे का एल्व्स (Elves) रखा है. लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि ये बिजली ग्रह की सतह पर नहीं, बल्कि वायुमंडल (Atmosphere) से ऊपर कड़क रही है. इसकी वजह से अंतरिक्ष में रोशनी दिख रही है.

तस्वीर ने किया हैरान
नासा (NASA) के वैज्ञानिकों ने पता लगाया है कि वायुमंडल के ऊपर मौजूद नाइट्रोजन (Nitrogen) कण दूसरी गैसों से टकरा कर इस तरह की क्रिया कर रहे हैं. साल 2016 से लेकर 2020 के बीच जूनो स्पेसक्राफ्ट ने बृहस्पति ग्रह पर 11 तेज और बेहद बड़ी बिजली को गिरते हुए रिकॉर्ड किया. ये बिजलियां तीव्रता और क्षेत्रफल में काफी बड़ी थीं.

यह भी पढ़ें- Neil Armstrong की चांद पर पहुंचने की दुर्लभ तस्वीरें होंगी नीलाम, जानें कीमत

इन तूफानों, बिजली की घटनाओं और बादलों पर की गई रिसर्च जर्नल ऑफ जियोफिजिकल प्लैनेट्स रिपोर्ट में छपी है. वैज्ञानिक रोहिणी जिल्स ने इसमें लिखा है कि हमारे पास इन बिजलियों के कई तरह के दस्तावेज और प्रमाण हैं. ये अद्भुत हैं. ये बिजलियां बृहस्पति ग्रह की सतह और वायुमंडल के सैकड़ों किलोमीटर ऊपर दिखाई दे रही हैं.

यह भी पढ़ें- Graviton: वैज्ञानिकों ने हासिल की बड़ी उपलब्धि, Einstein की थ्योरी को मिल सकती है चुनौती

वैज्ञानिक रोहिणी जिल्स बताती हैं कि जूनो स्पेसक्राफ्ट ने फिलहाल ये तस्वीरें बृहस्पति ग्रह से काफी दूर से ली हैं. जब यह और पास जाएगा तो हमें ज्यादा सही तस्वीरें मिलेंगी. इससे हमें ज्यादा गहन अध्ययन करने का मौका मिलेगा. 

विज्ञान से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Video-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *