Zee News Hindi: World News

नई दिल्ली: लीबिया (Libya) से आई एक खबर से पाकिस्तान (Pakistan) में दहशत है. दरअसल, लीबिया में स्थित तुर्की के अल वाटिया एयरबेस पर रफाल विमान (Rafale Jets) से जबरदस्त हमला किया है. माना जा रहा है कि इस हमले में तुर्की के कई सैनिक भी मारे गए हैं. मिस्र और फ्रांस पर हमले का शक जताया जा रहा है. इसमें इमरान खान और इस्लामाबाद के लिए टेंशन की खबर ये है कि जिस रफाल से तुर्की के एयरबेस पर हमला बोला गया है, उसी रफाल की पहली खेप इसी महीने भारतीय वायुसेना को मिलने जा रही है. 

लीबिया में मौजूद तुर्की के अल वाटिया एयरबेस का रफाल ने जो हाल किया है, उसे देखकर इस्लामाबाद में दहशत फैल गई होगी क्योंकि पाकिस्तान जानता है कि बहुत जल्द यही रफाल भारतीय वायुसेना का हिस्सा होगा. यूं तो लीबिया और पाकिस्तान की दूरी 5369 किलोमीटर है लेकिन लीबिया में रफाल के पराक्रम का डर पाकिस्तान तक पहुंच चुका है.

इसलिए किया गया अल वाटिया एयरबेस पर हमला 
लीबिया को लेकर मिस्र और तुर्की के बीच तनाव चरम पर है. तुर्की ने लीबिया की राजधानी त्रिपोली से 125 किलोमीटर दूर नूकत अल कमस जिले में अल वाटिया एयरबेस पर अपने फाइटर जेट, ड्रोन और मिसाइल सिस्टम को तैनात किया है, जिसे मिस्र और फ्रांस अपनी सुरक्षा के लिए खतरा बताते रहे हैं. मिस्र ने कई बार इसे लेकर तुर्की को चेतावनी भी दी थी. रफाल से हुए इस हमले में तुर्की के कई प्लेन, ड्रोन और फिक्स विंग एयरक्राफ्ट बर्बाद हो गए.  

कानपुर: 8 पुलिसकर्मियों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई सामने, हुआ चौंकाने वाला खुलासा

दो दिन पहले लीबिया की सरकार ने भी मिस्र सरकार पर अल वाटिया एयरबेस पर हमला करने का आरोप लगाया था. हालांकि लीबिया ने इस बात का खुलासा नहीं किया था कि कौन से लड़ाकू जहाजों ने एयरबेस पर हमला बोला है. 

VIDEO..

अल वाटिया एयरबेस पर ताबड़तोड़ बमबारी
रफाल विमानों के स्क्वाड्रन ने अल वाटिया एयरबेस पर ताबड़तोड़ बमबारी की. इस एयरबेस पर तुर्की के एफ -16 लड़ाकू विमानों के अलावा हवाई सुरक्षा के लिए एमआईएम-23 हॉक एयर डिफेंस सिस्टम को तैनात किया हुआ था लेकिन जिस तरह का मंजर दिखाई दे रहा है, उससे लगता नहीं है कि रफाल के आगे F-16 लड़ाकू विमानों की चली है. 

हाल में ही तुर्की के रक्षा मंत्री हुलुसी अकार ने त्रिपोली की यात्रा की थी. माना जा रहा है कि इसी के जवाब में मिस्र और फ्रांस ने इस हवाई हमले को अंजाम दिया है. लीबिया में तुर्की की मौजूदगी को लेकर मिस्र और फ्रांस ने कई बार तुर्की को चेतावनी भी दी थी. मिस्र ने तो यहां तक कहा है कि अगर तुर्की समर्थित मिलिशिया सिर्ते शहर की ओर आगे बढ़ते हैं तो वो सैन्य कार्रवाई करने के लिए मजबूर हो जाएगा. 

पाकिस्तान के लिए भी ये खबर इसलिए दहशत फैलाने वाली है, क्योंकि उसके पास भी F-16 लड़ाकू विमान ही हैं और अब जब रफाल अंबाला एयरबेस पर तैनात होंगे तो पाकिस्तान को भी पता होगा कि हिंदुस्तान को लाहोर पहुंचने में चंद मिनट भी नहीं लेंगेगे. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *