Zee News Hindi: World News

लंदन: ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय (Oxford University) के वैज्ञानिकों ने अब कोरोना वायरस के परीक्षण के लिए एक ऐसी रैपिड एंटीजन किट विकसित की है, जो पूरी प्रक्रिया को केवल 5 मिनट में पूरा कर सकती है. रिसर्चस ने इस बारे में गुरुवार को डिटेल्‍स जारी की है. इसके साथ ही उन्‍होंने कहा है कि इनका उपयोग हवाई अड्डों और व्‍यवसायों में बड़ी संख्‍या में लोगों का सामूहिक परीक्षण (Mass Testing) करने में किया जा सकता है.

इस डिवाइस की खास बात यह है कि बहुत सटीकता के साथ अन्य वायरस और कोरोना वायरस में फर्क करके उसका पता लगा सकेगा. 

ये भी पढ़ें: WWE चैंपियन जॉन सीना ने रचाई शादी, इस तरह शुरू हुई थी लव स्टोरी

2021 से हो जाएगी उपलब्‍ध 
ऑक्सफोर्ड के भौतिकी विभाग के प्रोफेसर अचिल्स कापेनीडिस ने कहा, ‘हमारी विधि ऐसी है जो जल्दी से वायरस के कणों का पता लगा लेती है. यह बेहद सरल, बहुत तेज और कम लागत वाली होगी.’ 

शोधकर्ताओं को उम्मीद है कि इस रैपिड टेस्टिंग किट (Rapid Antigen Testing Kit) का उत्पादन 2021 की शुरुआत से शुरू हो जाएगी. साथ ही यह उपयोग के लिए केवल 6 महीने के अंदर बड़े पैमाने पर उपलब्‍ध भी हो जाएगी. 

बता दें कि पिछले कुछ महीनों में कोरोना वायरस का परीक्षण करने के लिए रैपिड एंटीजन टेस्‍ट काफी उपयोगी और लोकप्रिय रहे हैं. शोधकर्ताओं का कहना है कि एक बार इस डिवाइस के उपयोग में आने के बाद इसकी लागत में और कमी आ जाएगी. उन्‍होंने कहा है कि इसकी कीमत मौजूदा उपलब्‍ध डिवाइस की तुलना में कम होगी. 

यह टेस्‍ट सर्दियों के मौसम में और भी सफल होगा क्‍योंकि तब कोरोना वायरस एक बार फिर पीक पर होगा. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *