नई दिल्ली: आईपीएल 2020 (IPL 2020) शुरू होने से पहले मिस्टर आईपीएल कहे जाने वाले सुरेश रैना और उनकी आईपीएल टीम सीएसके  के मालिक एन श्रीनिवासन की बीच मतभेदों की खबरों को लेकर गर्माया हुआ है. एक तरफ चेन्नई सुपरकिंग्स के उम्दा बल्लेबाज सुरेश रैना ने इन खबरों को नकारा है और आईपीएल 2020 (IPL 2020) में अपनी वापसी का संकेत दे रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ पूर्व बीसीसीआई (BCCI) अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने रैना की वापसी पर ऐसा बयान दिया. जिससे यह मामला फिलहाल शांत होने के नाम नहीं लेगा. 

यह भी पढ़ें- सुरेश रैना के रिश्तेदारों की हत्या के मामले की होगी SIT जांच: पंजाब पुलिस

रैना की होगी वापसी?
गौरतलब है कि हाल ही में एन श्रीनिवासन (N Srinivasan) ने एक मीडिया एजेंसी को दिए गए इंटरव्यू में कहा है कि सुरेश रैना चेन्नई सुपरकिंग्स के टीम दल के साथ आने वाले समय में जुडेंगे या नहीं इसका फैसला मैं नहीं कर सकता है.  रैना के सीएसके के साथ दोबारा शामिल होने पर हस्तक्षेप करना मेरे अधिकार के अधीन नहीं आता है. यह निर्णय लेने का हक सीएसके टीम प्रंबधन को है.

इसका मतलब है साफतौर पर टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) और चेन्नई टीम के सीईओ कासी विश्वनाथन से हैं. इसके साथ ही एन श्रीनिवासन ने  यह भी बताया है कि वह टीम के मालिक हैं न की कप्तान. किस खिलाड़ी को खिलाना है, किसे टीम में रखना है या फिर नीलामी के दौरान टीम से किसे निकलाना या खरीदना है, यह सारे फैसले टीम प्रंबधन लेता है.  इसके अलावा एन श्रीनिवासन का यह भी कहा है कि रैना उनके बेटे जैसे हैं. 

दो तरह के हैं एन श्रीनिवासन के बयान 
खबरों के अनुसार पिछले हफ्ते एन श्रीनिवासन का मानना था कि सुरेश  रैना (Suresh Raina) ने आईपीएल 13 के दौरान सीएसके का साथ छोड़कर अच्छा नहीं किया. उसके बाद एक दिन पहले एन श्रीनिवासन के बयान में थोड़ी नरमी आई और उन्होंने तब बताया कि रैना के लिए चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) के दरवाजे हमेशा खुले हैं. लेकिन श्रीनिवासन के इस ताजा बयान ने यह साबित कर दिया है कि उनकी सभी बातें लगभग दो तरीके की नजर आ रही हैं. हालांकि एन श्रीनिवासन ने अपने पहले बयान को गलत पेश करने के लिए मीडिया को दोषी ठहराया था. बता दें कि सुरेश रैना पिछले हफ्ते सीएसके में मिले 13 कोराना केस के बाद निजी कारणों से आईपीएल 2020 को छोड़कर भारत वापस आ गए थे. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *