जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, वैसे-वैसे अधिकतर पुरुषों को बाल झड़ने, बाल टूटने आदि समस्याएं होने लगती है. पुरुषों में कई तरह का गंजापन हो सकता है. जो कि उनके शरीर में हॉर्मोन के असंतुलन, जेनेटिक्स या बिगड़ी हुई जीवनशैली के कारण हो सकता है. बालों के स्वास्थ्य को सबसे ज्यादा अत्यधिक चिंता व तनाव, धूम्रपान, एक्सरसाइज में कमी आदि फैक्टर्स प्रभावित कर सकते हैं. हालांकि, आप कुछ फायदेमंद योगासनों की मदद से बाल झड़ने, रूखे बाल और गंजेपन की समस्या को दूर कर सकते हैं. आइए इन योगासनों के बारे में जानते हैं.

ये भी पढ़ें: मॉर्निंग में उठने से पहले बेड पर ही करनी चाहिए ये जरूरी स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज

गंजापन दूर करने वाले योगासन
अगर आपके बाल कम होने लगे हैं, तो बेहतर यही होगा कि आप जल्द से जल्द इन योगासनों को शुरू कर दें. क्योंकि, जितना जल्दी आप इन योगासनों का अभ्यास करने लगेंगे, उतनी जल्दी ही गंजेपन की समस्या को रोका जा सकेगा. आइए इन योगासनों के बारे में जानते हैं.

1. अधोमुखश्वानासन (Downward Dog Pose)
इसे करने के लिए सबसे पहले अपने दोनों हाथों और पैरों को जमीन पर टिकाकर एक कुत्ते के आकार में आ जाएं. इस दौरान आपके घुटने और कोहनी बिल्कुल सीधी होनी चाहिए. पैरों को कूल्हों के जितना और हाथों को कंधों के जितना खुला रखें. इसके बाद हथेली और तलवों को अपनी जगह रखते हुए पेट को टांगों की तरफ लाएं और शरीर से V का आकार बनाएं. इस पोजीशन में कुछ गहरी सांस लें और फिर आराम करें.

अधोमुखश्वानासन के फायदे- सिर में बेहतर रक्त प्रवाह, जुखाम से राहत, इंसोम्निया, डिप्रेशन और मानसिक थकान से राहत भी मिलती है. 

2. उत्तानासन (Standing Forward Pose)
उत्तानासन को करने के लिए सबसे पहले ताड़ासन की स्थिति में खड़े हो जाएं. अपनी रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें और पैरों को थोड़ा खोल कर रखें. सांस अंदर की तरफ खींचें और सांस छोड़ते हुए शरीर को कूल्हों के पास से मोड़ें और अपने हाथों को जमीन की तरफ ले जाएं. अगर आपके पैरों की मांसपेशियों में दर्द या तनाव रहता है, तो आप घुटनों को थोड़ा मोड़ सकते हैं. कोशिश करें कि आपकी उंगलियां जमीन को छुएं और सिर घुटनों के पास आ जाए. इसी स्थिति में कुछ गहरी सांस लें.

उत्तानासन के फायदे- शारीरिक थकान दूर होती है और शरीर में रक्त प्रवाह बेहतर होता है.

ये भी पढ़ें: Corpse Pose: सिरदर्द और हाई ब्लड प्रेशर से राहत दिलाता है शवासन, जानें इसके चमत्कारिक फायदे

3. सर्वांगासन (Shoulder Stand)

इस आसन को करने के लिए कमर के बल सीधा लेट जाएं. अब अपने दोनों पैरों को मिलाकर ऊपर की तरफ उठाने की कोशिश करें. अपनी हथेलियों से कमर को सपोर्ट देते हुए पूरे शरीर को उठाते हुए पैरों की उंगलियों को ऊपर बिल्कुल सीधा ले जाने की कोशिश करें. जब आप सही स्थिति में आ जाएंगे, तो आपके शरीर का पूरा वजन कंधों के आसपास आ जाएगा. पैरों को नीचे बिल्कुल आराम से लाएं.

सर्वांगासन के फायदे- मस्तिष्क में ऑक्सीजन व रक्त प्रवाह बेहतर होता है और मानसिक तनाव से छुटकारा मिलता है.

4. सेतुबंधासन (Bridge Pose)
सेतुबंधासन करने के लिए सबसे पहले जमीन पर कमर के बल लेट जाएं. इसके बाद अपने घुटनों को मोड़ते हुए पैरों को घुटनों के नीचे ले आएं. अपने दोनों हाथों को कमर के पास रखें और सांस लेते हुए सिर को जमीन पर रखे हुए कूल्हों को जितना हो सके हवा में ऊपर उठाने की कोशिश करें. शरीर को ऊपर ले जाते हुए अपनी छाती ठुड्डी से लगाने की कोशिश करें और शरीर का पूरा भार पैर और हाथों पर रखने की कोशिश करें. अब इसी अवस्था में सांस लें और फिर छोड़ते हुए आराम से वापिस सामान्य स्थिति में आ जाएं.

सेतुबंधासन के फायदे- ब्लड सर्क्युलेशन बेहतर करता है, तनाव घटाता है, फेफड़ों और पाचन क्रिया के लिए बेहतर है.

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *