Breaking News

Doctors and teachers protest against Trump’s pressure to reopen US schools during Corona | कोरोना काल ने स्कूल खोलने का ट्रंप ने बनाया दवाब तो डॉक्टर और टीचरों ने खोला मोर्चा

Zee News Hindi: World News

वाशिंगटन: पूरी दुनिया में कोरोना वायरस (Coronavirus) से सबसे ज्यादा प्रभावित देश अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) फिर से स्कूलों को खोलने का दवाब बना रहे हैं. जिसके विरोध में डॉक्टरों, शिक्षक और स्कूल के मुख्य अधिकारियों के प्रतिनिधित्व करने वाले समूहों ने शुक्रवार को मोर्चा खोल दिया. 

स्कूलों के ना खोलने पर आगामी शैक्षणिक सत्र के लिए संघीय शिक्षा फंडों को बंद करने की ट्रंप द्वारा धमकी देने के बाद अमेरिकन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स, दो नेशनल टीचर्स यूनियन और एक स्कूल सुपरिटेंडेंट के ग्रुप ने कहा कि सार्वजनिक स्वास्थ्य एजेंसियों को सबूतों के आधार पर सिफारिशें करनी चाहिए थी ना कि राजनीति से प्रेरित होकर. ट्रंप को अभी स्कूल नहीं खोलने चाहिए.
 
अमेरिकी फेडरेशन ऑफ टीचर्स नेशनल एजुकेशन एसोसिएशन और एपी व स्कूल अधीक्षक ने संयुक्त बयान में कहा कि हमें यह स्वास्थ्य विशेषज्ञों पर छोड़ देना चाहिए कि स्कूल खोलने के लिए सबसे अच्छा समय कब है और शिक्षकों और प्रशासकों को यह सुनना चाहिए कि हम यह कैसे कर सकते हैं. 

ये भी पढ़ें:- चीन के साथ दूसरे चरण का व्यापारिक समझौता करने से ट्रंप ने किया इनकार

इनके इस फैसले का इनफेक्शियस डिजीज सोसाइटी ऑफ अमेरिका और एचआईवी मेडिकल एसोसिएशन ने साथ दिया. ट्रंप ने शुक्रवार को धमकी दी थी कि ट्रेजरी विभाग स्कूलों की कर मुक्ति स्थिति और उनके संघीय वित्तपोषण की फिर से जांच करेगा. इस सप्ताह रिपब्लिकन राष्ट्रपति ने संयुक्त राज्य अमेरिका में विश्वविद्यालय के विदेशी छात्रों को निकालने के लिए तैयारी कर ली है. अगर उन स्कूलों में व्यक्तिगत कक्षाएं नहीं दी जाती हैं तो उन पर कम से कम 2 मुकदमें लग सकते हैं. 

स्कूलों को फिर से खोलने का उनका यह फैसला उस समय आया है जब कोरोना वायरस के मामले देश के सबसे ज्यादा आबादी वाले क्षेत्रों में तेजी से बढ़ रहे हैं. कुछ राज्य और स्थानीय अधिकारियों ने प्रतिबंधों में ढील दिए जाने की योजना बनाने पर जोर दिया. स्कूल प्रशासन छात्रों और कर्मचारियों के लिए अपने इमारतों को खोलने का जोखिम उठा रहे हैं क्योंकि अमेरिका कोरोना वायरस के मामले में इस सप्ताह 30 मिलियन से भी ऊपर पहुंच गया है. कुछ विश्वविद्यालयों ने केवल ऑनलाइन निर्देश योजनाओं की घोषणा की है, वहीं कुछ अन्य अपने समय में बदलाव कर सकते हैं. 

देश के सबसे बड़े पब्लिक स्कूल जिले, न्यूयॉर्क शहर स्कूलों ने ऑन-साइट और ऑनलाइन कक्षा दोनों को मिलाकर एक हाइब्रिड योजना की घोषणा की है. ट्रंप ने डेमोक्रेट्स पर महामारी का राजनीतिक फायदा उठाने के लिए स्कूल और व्यवसायियों को फिर से ना खोलने का आरोप लगाया है, ताकि अर्थव्यवस्था और उसकी फिर से चुनाव की संभावनाओं को चोट पहुंचाई जा सके, यहां तक कि स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने भी प्रतिबंधों को जल्दी हटाने को लेकर चेतावनी दी है. 

ये भी पढ़ें:- ट्रंप ने अपने करीबी दोस्त रोजर स्टोन की सजा को किया कम, डेमोक्रेट्स ने न्यायिक प्रक्रिया में बताया दखल

अपने ट्विटर पोस्ट में ट्रंप ने शुक्रवार को कहा कि बहुत सारे विश्वविद्यालय स्कूल सिस्टम शिक्षा के बारे मंव नहीं बल्कि रेडिकल लेफ्ट इनडोक्टरीनेशन के बारे में है, इसलिए मैं ट्रेजरी विभाग से कह रहा हूं कि वह अपने कर्ज मुक्ति स्थिति या फंडिंग को फिर से देखें जो सार्वजनिक नीति के खिलाफ इस प्रोपेगेंडा के जारी रखने पर लिया जाएगा. हमारे बच्चों को शिक्षित किया जाना चाहिए ना की व्यक्तिगत रूप से सिद्धांतवादी बनाना चाहिए. 

यह स्पष्ट नहीं था कि ट्रेजरी कैसे धन को प्रतिबंधित कर सकता है और विभाग तुरंत ही टिप्पणी नहीं दे सकता है. अधिकांश प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय स्थानीय स्तर से वित्तपोषित हैं. आप और अन्य समूहों ने अपने बयान में कांग्रेस से स्कूलों को और अधिक धन देने का आग्रह किया ताकि वह धन को सुरक्षित रखने के विचार को गुमराह करने वाला दृष्टिकोण कह सकें. 

डेमोक्रेट्स ने कहा है कि वे चाहते हैं कि छात्र कक्षाओं में लौटें लेकिन केवल तब जब वह सुरक्षित हों. नवंबर में होने वाले चुनाव में ट्रंप के संभावित प्रतिद्वंदी पूर्व उपराष्ट्रपति जो बिडेन ने कहा है कि ऑनलाइन निर्देश शायद थोड़ी और देर के लिए आवश्यक हैं. यहां तक कि ट्रंप के कुछ साथी रिपब्लिकनों ने स्कूलों को फिर से खोलने के अपने फैसले को खारिज कर दिया है.

ओहियो के गवर्नर माइक डिवाइन ने शुक्रवार को कहा कि स्थानीय प्रशासन अपने स्कूलों के लिए सबसे अच्छी योजना तय करेंगे और अब फेस मास्क और अन्य उपायों को अपनाने वाले लोगों पर सब कुछ निर्भर करता है. उन्होंने बताया कि जब हम गिरते हैं तो क्या करते हैं… अगले 30 दिनों में हम जो करते हैं उस पर काफी हद तक बहुत कुछ निर्भर होने जा रहा है. एक अन्य रिपब्लिकन गवर्नर मैरीलैंड के लेरी होगन ने एमएसनबीसी दिस वीक को बताया कि हम राष्ट्रपति से तंग या डरने वाले नहीं हैं. 

LIVE TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *