नई दिल्ली: अगर आप कब्ज की समस्या से परेशान हैं तो ये खबर आपके काम आ सकती है. आज हम आपके लिए कब्ज का इलाज लेकर आए हैं. आयुर्वेद के अनुसार, नारियल का तेल कब्ज के लिए एक बहुत अच्छा प्राकृतिक उपचार है, क्योंकि यह उचित मात्रा में उपयोग किए जाने पर प्रभावी तरीके से काम करता है. यह कठोर मल को नरम कर सकता है. नारियल का तेल लिपिड से भरपूर होता है, जो स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करता है. 

जाने माने आयुर्वेद डॉक्टर अबरार मुल्तानी के अनुसार, नारियल के तेल में मध्यम मात्रा में फैटी एसिड होता है, जो आपके कोलन और पाचन तंत्र को लाइन करने वाली कोशिकाओं को उत्तेजित करने का काम करता है, जिससे इन कोशिकाओं की ऊर्जा और मेटाबॉलिक क्षमता बढ़ती है. यह आपकी पाचन दर में सुधार कर सकता है और अधिक पोषक तत्वों को अवशोषित कर सकता है.

डॉक्टर अबरार मुल्तानी कहते हैं कि नारियल का तेल आंत को चिकनाई देता है, जो शरीर की आसान गति में मदद करता है और कब्ज को रोकता है. नारियल का तेल मेटोबॉलिज्म को बढ़ा सकता है, जो बदले में शरीर से अतिरिक्त अपशिष्ट को निकालता है और कब्ज को रोकता है. 

ऐसे करें उपयोग
डॉक्टर अबरार मुल्तानी कहते बताते हैं कि वर्जिन कोकोनट ऑयल कब्ज के लिए सबसे अच्छा माना जाता है. इस प्रकार का नारियल तेल ताजे नारियल के दूध से निकाला जाता है, जिन लोगों को अक्सर कब्ज की शिकायत रहती है, उनके लिए रोजाना एक या दो चम्मच नारियल तेल का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है.

क्या कहते हैं डॉक्टर
डॉक्टर अबरार मुल्तानी के अनुसार कब्ज से तत्काल राहत के लिए नारियल तेल का सेवन करने के दो तरीके हैं. आप हर सुबह एक चम्मच वर्जिन नारियल का तेल का सेवन कर सकते हैं या आप इसे अपनी सुबह की कॉफी या एक गिलास जूस में मिला सकते हैं. नारियल का तेल सेवन करने के लिए सुरक्षित है और इसका कोई ज्ञात दुष्प्रभाव नहीं है. हालांकि अगर आपको कोई पुरानी बीमारी है या आप गर्भवती हैं या स्तनपान करा रही हैं तो इस घरेलू उपाय को आजमाने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें.

ये भी पढ़ें: Dahi face pack: चेहरे का खोया हुआ निखार वापस लाएगा दही, इस तरह इस्तेमाल करने पर खिल उठेगा चेहरा

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *